कैंसर क्या है? कारण, प्रकार, लक्षण, उपचार पूरी जानकारी? What Is Cancer 2021

Spread the love

What Is Cancer – क्या आप जानते है कैंसर क्या है? कैंसर किस कारण से होता है, कैंसर कितने प्रकार के होता हैं, कैंसर की जांच कैसे होती है, कैंसर के लक्षण क्या होते है, कैंसर का उपचार कैसे किया जाता है? कैंसर की पूरी जानकारी जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़े। (What Is Cancer)

Cancer (कैंसर)

संयुक्त राज्य अमेरिका में हर 3 में से 1 व्यक्ति को कैंसर प्रभावित करता है। हमारा मानव शरीर खरबों कोशिकाओं से मिलकर बना हैं जो हमारे पूरे जीवनकाल में सामान्य रूप से बढ़ती हैं और आवश्यकतानुसार विभाजित होती हैं।

What Is Cancer
What Is Cancer

जब कोशिकाएं असामान्य होती हैं या पुरानी हो जाती हैं, तो वे आमतौर पर मृत हो जाती हैं। वे मृत कोशिका कैंसर के रूप में शुरू होता है जब इस प्रक्रिया में कुछ गलत हो जाता है और आपकी कोशिकाएँ नई कोशिकाएँ बनाती रहती हैं और पुरानी या असामान्य कोशिकाएँ उस समय नहीं मरतीं जब उन्हें मरना चाहिए।

जैसे-जैसे कैंसर कोशिकाएं नियंत्रण से बाहर होती जाती हैं, वे सामान्य कोशिकाओं को बाहर निकाल सकती हैं। इससे आपके शरीर के लिए उस तरह से काम करना मुश्किल हो जाता है जिस तरह से उसे करना चाहिए।

What Is Cancer? ( कैंसर क्या होते है )

कैंसर एक ऐसी लाइलाज बीमारी है जिसमें शरीर की कुछ कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से बढ़ने लगती हैं और शरीर के अन्य भागों में फैलने लगती हैं।


कैंसर शरीर की कोशिकाओ में लगातार बढ़ता रहता हैं और अनियंत्रित तरीके से शरीर के अन्य कोशिकाओं में फैलता है।



कैंसर मानव शरीर के किसी भी भाग में हो सकता है, जो करोड़ों कोशिकाओं से मिलकर बना होता है। आम तौर पर, मानव कोशिकाएं प्रतिदिन बढ़ती रहती हैं और शरीर में नई कोशिकाओं का निर्माण करती है क्योंकि शरीर को उनकी आवश्यकता होती है।

जब कोशिकाएं पुरानी हो जाती हैं या क्षतिग्रस्त हो जाती हैं, तो वे मर जाती हैं और नई कोशिकाएं उनकी जगह ले लेती हैं। मृत कोशिका शरीर से नाखून और बालों के रूप में बाहर हो जाती है।

कभी-कभी यह व्यवस्थित प्रक्रिया टूट जाती है, और असामान्य या क्षतिग्रस्त कोशिकाएं बढ़ने लगती हैं जो शरीर में ट्यूमर का रूप ले ली हैं, यह ऊतक की गांठ जैसा होता हैं। ट्यूमर या गांठ कैंसर का करना भी हो सकता है।

कैंसर के ट्यूमर आस-पास के ऊतकों में फैलते हैं, या आक्रमण करते हैं और नए ट्यूमर बनाने के लिए शरीर में दूर के स्थानों की यात्रा कर सकते हैं। कैंसर युक्त ट्यूमर को घातक ट्यूमर भी कहा जा सकता है। कई कैंसर ठोस ट्यूमर बनाते हैं, लेकिन रक्त के कैंसर, जैसे ल्यूकेमिया, आमतौर पर नहीं होते हैं।

कैंसर कैसे विकसित होता है? (How Does Cancer Develop)

कैंसर एक अनुवांशिक बीमारी है। जो शरीर के जीन में परिवर्तन के कारण होता है जो हमारी कोशिकाओं के कार्य करने के तरीके को नियंत्रित करता है, विशेष रूप से वे कैसे बढ़ते और विभाजित होते हैं।

कैंसर का कारण बनने वाले आनुवंशिक परिवर्तन होते हैं क्योंकि हमारे शरीर की कोशिका विभाजन के रूप में होने वाली त्रुटियों से होता है। पर्यावरण में हानिकारक पदार्थों के कारण होने वाले डीएनए को नुकसान, जैसे तंबाकू के धुएं में रसायन और सूरज से पराबैंगनी किरणें।

शरीर सामान्य रूप से क्षतिग्रस्त डीएनए वाली कोशिकाओं को कैंसर ग्रस्त होने से पहले समाप्त कर देता है, लेकिन उम्र बढ़ने के साथ शरीर की ऐसा करने की क्षमता कम होती जाती है। यही कारण है कि जीवन में बाद में कैंसर का खतरा अधिक होता है।

प्रत्येक व्यक्ति के कैंसर में आनुवंशिक परिवर्तनों का एक अनूठा संयोजन होता है। जैसे-जैसे कैंसर बढ़ता रहेगा, शारी में अतिरिक्त परिवर्तन होंगे। एक ही ट्यूमर के भीतर भी, विभिन्न कोशिकाओं में अलग-अलग आनुवंशिक परिवर्तन होते हैं।

कैंसर कितने प्रकार का होता है? (What Is Cancer – Typs of Cancer)

100 से अधिक प्रकार के कैंसर होते हैं। कैंसर के प्रकार आमतौर पर उन अंगों या ऊतकों के नाम पर रखे जाते हैं जहां कैंसर बनता है। उदाहरण के लिए, फेफड़े का कैंसर फेफड़े में शुरू होता है, और मस्तिष्क का कैंसर मस्तिष्क में शुरू होता है।

डॉक्टर द्वारा कैंसर को निम्नलिखित आधार पर विभाजित किया जाता है

मानव शरीर में मुख्य रूप से चार प्रकार के कैंसर देखने को मिलते हैं

कार्सिनोमा

एक कार्सिनोमा त्वचा या ऊतको में शुरू होता है जो शरीर के आंतरिक अंगों और ग्रंथियों की सतह को कवर करता है।

कार्सिनोमा आमतौर पर ठोस ट्यूमर बनाते हैं। वे कैंसर का सबसे आम प्रकार हैं। कार्सिनोमा के उदाहरणों में प्रोस्टेट कैंसर, स्तन कैंसर, फेफड़ों का कैंसर और कोलोरेक्टल कैंसर शामिल होते हैं।

सारकोमा

सरकोमा उन ऊतकों में शुरू होता है जो शरीर को सहारा देते हैं और जोड़ते हैं। वसा, मांसपेशियों, नसों, कण्डरा, जोड़ों, रक्त वाहिकाओं, लसीका वाहिकाओं, उपास्थि, या हड्डी में विकसित हो सकता है।

ल्यूकेमिया (ब्लड कैंसर)

ल्यूकेमिया इसे बलाद कैंसर या रक्त का कैंसर कहते है। ल्यूकेमिया शरीर में तब शुरू होता है जब स्वस्थ रक्त कोशिकाएं बदलती हैं और अनियंत्रित रूप से बढ़ती हैं।

ब्लड कैंसर के लक्षण

  • अत्यधिक खून बहना।
  • कमजोरी और थकान।
  • भूख न लगना।
  • वजन कम होना।
  • मसूड़ों में सूजन होना और उनसे खून निकलना।
  • सिर दर्द होना।

U.S. के पुरुष, महिलाओं और बच्चों में तीन सबसे आम कैंसर पाए जाते हैं।

  • पुरुष – प्रोस्टेट, फेफड़े और कोलोरेक्टल।
  • महिलाएं – स्तन, फेफड़े और कोलोरेक्टल।
  • बच्चे – ल्यूकेमिया, ब्रेन ट्यूमर और लिम्फोमा।

कैंसर किस कारण से होता है? (What Is Cancer reasion)

मानव शरीर में आमतौर पर डीएनए में कुछ बदलाव या उत्परिवर्तन होने के कारण कैंसर होता है। सरल भाषा में डीएनए को कोशिकाओं का मस्तिष्क कहा जाता है। जो उन्हें गुणन (मल्टीप्लाइकेशन) करने के निर्देश देता है।

जब इन निर्देशों में कोई खराबी हो जाती है, तो कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से बढ़ने लग जाती हैं और परिणामस्वरूप कैंसर विकसित हो जाता है। शरीर में कैंसर होने के कारण निम्नलिखित होते है

  • मानसिक तनाव – यह कैंसर का एक मुख्य जोखिम कारक माना जाता है, क्योंकि यह समस्त स्वास्थ्य को गंभीर रूप से प्रभावित करता है।
  • तंबाकू या उससे बने उत्पाद – जैसे सिगरेट या चुईंगम आदि का लंबे समय तक सेवन करने से मुंह व फेफड़ों के कैंसर का कारण होता है।
  • शराब का सेवन – लंबे समय से शराब (एल्कोहल) का सेवन करने से लिवर में कैंसर होने के खतरे को बढ़ा देता है।
  • खाद्य पदार्थ – अस्वास्थ्यकर आहार और रिफाइंड खाद्य पदार्थ जिनमें फाइबर कम होता है, वे कोलन कैंसर होने के खतरे को बढ़ा सकते हैं।
  • हार्मोनस – कुछ विशेष प्रकार के हार्मोन भी कैंसर होने का कारण बन जाते हैं, जैसे टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ना प्रोस्टेट कैंसर और एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ना ब्रेस्ट कैंसर होने के खतर को बढ़ा सकता है।
  • उम्र – उम्र बढ़ने के साथ-साथ भी कुछ प्रकार के कैंसर होने का खतरा होने का खतरा होता है,जैसे कोलन कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर आदि।
  • अनुवांशिक दोष या उत्परिवर्तन – अनुवांशिक दोष या उत्परिवर्तन भी कैंसर होने के खतरे को काफी हद तक बढ़ा सकते हैं। उदाहरण के लिए महिलाओं में BRCA1 या BRCA2 जीन में किसी प्रकार का उत्परिवर्तन होता है, तो ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

.

कैंसर के लक्षण (Symptoms) क्या होते है?

मानव शरीर में कैंसर होने के कारण और लक्षण इस बात पर निर्भर करते हैं कि शरीर का कौन सा हिस्सा प्रभावित है।

कैंसर के कुछ सामान्य लक्षण इस प्रकार है (What Is Cancer Symptoms)

  • शरीर में थकान।
  • आंत्र या मूत्राशय की आदतों में परिवर्तन।
  • गले में खराश जो ठीक नहीं होती।
  • शरीर में असामान्य रक्तस्राव होना।
  • अंडकोष या अन्य जगहों पर मोटा होना।
  • आकार या मोटाई में स्पष्ट परिवर्तन सताती खांसी या आवाज का बैठना।
  • खांसी और सांस लेने में दिक्कत होना।
  • समय कुछ भी निगलने में दिक्कत होना।
  • त्वचा के अंदर किसी गांठ का महसूस होना।
  • तेजी से वजन घटना या बढ़ना।
  • त्वचा का रंग बदलना जैसे रेडनेस, कालापन या पीलापन बढ़ना।
  • यूरिन संबंधी दिक्कतें या इसमें बदलाव।
  • थकान गांठ या गाढ़ा होने का क्षेत्र जो त्वचा के नीचे महसूस किया जा सकता है ।
  • वजन में परिवर्तन including त्वचा में परिवर्तन, जैसे त्वचा का पीला पड़ना, काला पड़ना या लाल होना।
  • घाव जो ठीक नहीं होंगे, या मौजूदा मस्सों में परिवर्तन।
  • आंत्र या मूत्राशय की आदतों में परिवर्तन।
  • लगातार खांसी या सांस लेने में तकलीफ निगलने में कठिनाई।
  • स्वर बैठना खाने के बाद लगातार अपच या बेचैनी होना लगातार।
  • अस्पष्टीकृत मांसपेशियों या जोड़ों का दर्द लगातार।
  • अस्पष्टीकृत बुखार या रात को पसीना आना।
  • अस्पष्टीकृत रक्तस्राव या चोट लगना।

कैंसर की जांच कैसे होती है

कैंसर की जांच द्वारा शरीर के अंदर क्षेत्रों की तस्वीरें ली जाती है। इससे डॉक्टर को यह जानने में मदद करती है कि क्या शरीर में कोई ट्यूमर मौजूद है। ये फोटो कई तरीके से लिये जा सकते हैं जैसे कि

सीटी स्कैन करके-  इस विधि में एक एक्स-रे मशीन एक कंप्यूटर से जुड़ी होती है, जो किसी कंट्रास्ट सामग्री के साथ अंगों (जैसे कि डाई के रूप में) के विस्तृत चित्रों की एक श्रृंखला बनाता है। इन चित्रों को पढ़ना आसान होता है।

रेडियोन्युक्लाइड स्कैन द्वारा – इस प्रक्रिया में रेडियोधर्मी सामग्री की एक छोटी मात्रा के इंजेक्शन के द्वारा इमेजिंग की जाती है। यह रक्त से होकर बहती है और कुछ हड्डियों या अंगों में जमा हो जाती है।

इसमें एक मशीन जिसे स्कैनर कहते है, रेडियोधर्मिता को मापती और उसका पता लगाती है। स्कैनर कंप्यूटर स्क्रीन पर या फिल्म पर हड्डियों या अंगों के चित्र बनाता है। शरीर से जल्द ही रेडियोधर्मी पदार्थ बाहर निकल जाता है।

एक्स – रे मशीन से – एक्स-रे शरीर के अंदर के अंगों और हड्डियों को देखने का सबसे आम तरीका हैं।

अल्ट्रासाउंड तकनीकी द्वारा – इसमें कोई अल्ट्रासाउंड उपकरण ध्वनि तरंगें प्रेषित करता है जिन्हें लोग नहीं सुन सकते हैं। तरंगें शरीर के अंदर के ऊतकों पर प्रतिध्वनियों की तरह टकराकर वापस लौटती है।

कंप्यूटर इन प्रतिध्वनियों का उपयोग चित्र बनाने के लिये करता है जिसे सोनोग्राम कहते हैं।

पीईटी स्कैन – रेडियोधर्मी सामग्री की एक छोटी राशि इंजेक्शन लगाने के बाद, एक विशेष मशीन शरीर में रासायनिक गतिविधियों को दिखाने के लिये चित्र बनाती है। कैंसर की कोशिकाएं कभी-कभी उच्च गतिविधियों के क्षेत्रों के रूप में दिखती हैं।

एमआरआई (MRI) करके – एक मजबूत चुंबक से जुड़े कंप्यूटर से शरीर के हिस्सों के विस्तृत चित्र बनाने के लिये इसका प्रयोग किया जाता है। डॉक्टर एक मॉनिटर पर इन शरीर की फोटो को देखते है।

केंसर से बचने के उपाय (Traetment of cencer)

कैंसर एक लाइलाज बीमारी है लेकिन समय रहते पता लगने पर सही उपचार मिलने से इसका इलाज करना संभव है। कैंसर से निम्नलिखित उपचार द्वारा बचा जा सकता है

कीमोथेरेपी (औषधियों द्वारा)

कीमोथेरेपी का उद्देश्य उन दवाओं से कैंसर कोशिकाओं को मारना है जो तेजी से विभाजित होने वाली कोशिकाओं को लक्षित करती हैं। दवाएं ट्यूमर को सिकोड़ने में भी मदद कर सकती हैं, लेकिन दुष्प्रभाव गंभीर हो सकते हैं।

हार्मोन थेरेपी

हार्मोनथेरेपी में ऐसी दवाएं शामिल होती है जो कुछ हार्मोन के काम करने के तरीके को बदल देती हैं या उन्हें पैदा करने की शरीर की क्षमता में हस्तक्षेप करती हैं। जब प्रोस्टेट और स्तन कैंसर के साथ हार्मोन महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, तो यह एक सामान्य दृष्टिकोण है।

इम्यूनोथेरेपी

इम्यूनोथेरेपी एक प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और कैंसर कोशिकाओं से लड़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए दवाओं और अन्य उपचारों का उपयोग करती है। इन उपचारों के दो उदाहरण चेकपॉइंट इनहिबिटर और एडॉप्टिव सेल ट्रांसफर हैं।

उपर्युक्त दवा

सटीक दवा, या व्यक्तिगत दवा, एक नया, विकासशील दृष्टिकोण है। इसमें किसी व्यक्ति के कैंसर की विशेष प्रस्तुति के लिए सर्वोत्तम उपचार निर्धारित करने के लिए आनुवंशिक परीक्षण का उपयोग करना शामिल है। शोधकर्ताओं ने अभी तक यह नहीं दिखाया है कि यह सभी प्रकार के कैंसर का प्रभावी ढंग से इलाज कर सकता है।

सर्जरी

चिकित्सा कैंसर कोशिकाओं को मारने के लिए उच्च खुराक वाले विकिरण का उपयोग करती है। इसके अलावा, एक डॉक्टर सर्जरी से पहले ट्यूमर को सिकोड़ने या ट्यूमर से संबंधित लक्षणों को कम करने के लिए विकिरण का उपयोग करने की सलाह दे सकता है।

स्टेम सेल ट्रांसप्लांट तकनीकी

स्टेम सेल ट्रांसप्लांट विशेष रूप से रक्त संबंधी कैंसर वाले लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है, जैसे ल्यूकेमिया या लिम्फोमा। इसमें लाल या सफेद रक्त कोशिकाओं जैसी कोशिकाओं को हटाना शामिल है, जिन्हें कीमोथेरेपी या विकिरण ने नष्ट कर दिया है। लैब तकनीशियन तब कोशिकाओं को मजबूत करते हैं और उन्हें वापस शरीर में डालते हैं।

जब किसी व्यक्ति को कैंसर ट्यूमर होता है तो सर्जरी अक्सर उपचार योजना का हिस्सा होती है। इसके अलावा, एक सर्जन रोग के प्रसार को कम करने या रोकने के लिए लिम्फ नोड्स को हटा सकता है।

पोषण

विटामिन ए व सी की भारी मात्रा प्रयोगशाला में जन्तुओं में कैंसर को रोकते है। अध्ययनों के दौरान पाया गया है कि कुछ भोज्य पदार्थ जैसे- गोभी, बंधा, पालक, गाजर, फल, आटे की ब्रेड, अनाज, सी-फूड कैन्सर को रोकने में सहायक हो सकते है। सही पोषण का सेवन करने से कैन्सर को रोकने में काफी मदद मिलती है।


Read Artical

कार्बोहाइड्रेट क्या होते है?

ओट्स खाने के फायदे?

संतुलित आहार किसे कहते है?

कार्बोहाइड्रेट किसमें किसमें पाया जाता है?

What Is Cancer – दोस्तो आपको इस आर्टिकल में दि गई जानकारी कैसी लगी हम अपने विचार जरूर बताए और इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर करे

कैंसर क्या है? कारण, प्रकार लक्षण, उपचार पूरी जानकारी? What Is Cancer in hindi.

Add a Comment