Budget 2022: क्या है भारत में बजट के प्रकार, इतिहास | What Is Budgeting - WebBalaji

Latest Post

भारत में जनसंख्या विस्फोट पर निबंध | Essay on Population Explosion in India Common Gateway Interface – CGL क्या है?
Spread the love

क्या आप जानते है Budget 2022: क्या है भारत में बजट के प्रकार, इतिहास? यदि नहीं और आप भी Budget से संबंधित जानकारी ढूंढ रहे है जैसे What is Budgeting (What is Budget), बजट क्या है बजट के महत्वपूर्ण सिद्धांत का वर्णन करें, बजट क्या है बजट के प्रकार, बजट क्या है 2022, सरकारी बजट क्या है, बजट क्या है बजट निर्माण के चरणों को उदाहरण सहित समझाइए, बजट का मतलब,

बजट क्या है बजट के महत्वपूर्ण सिद्धांत का वर्णन करें, बजट क्या है इन हिंदी, सरकारी बजट का अर्थ लिखिए, बजट के प्रकार pdf, भारत में बजट के प्रकार, आदि तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़े। तो चलिए बिना देरी करे जानते हैं What is Budget 2022.

Budget 2022: क्या है भारत में बजट के प्रकार, इतिहास | What is Budgeting

What is Budgeting
What is Budgeting

Budget क्या है? (What is Budget)

Budget Means – Budget शब्द का विकास फ्रेंच शब्द Bougette से हुआ है, जिसका शाब्दिक अर्थ है, एक छोटा चमड़े का थैला या बैग।

इंग्लैंड के प्रथम प्रधानमंत्री सर रोबर्ट वालपोल ने 1721 से 1742 में अपने वित्तीय प्रस्ताव के दस्तावेजों को चमड़े के एक थैले में रखा हुआ था।

जब वालपोल ने अपने वित्तीय प्रस्तावों को संसद में प्रस्तुत किया तो लोगो ने मजाक उड़ाया और कहा कि बजट खोला गया (The Budget Opened)। इसके बाद वार्षिक आय व्यय के प्रस्ताव के लिए बजट शब्द का प्रयोग होने लगा।

भारत में सरकारी Budget का इतिहास

भारत में बजट प्रणाली की शुरुवात का श्रेय वायसराय कैनिंग को जाता है। 1859 में वायसरॉय की कार्यकारिणी परिषद में पहली बार एक विशेष सदस्य सर जेम्स विल्सन को वित्त सदस्य के रूप में सम्मिलित किया गया।

जेम्स विल्सन ने पहली बार 7 अप्रैल, 1960 को वायसराय की कार्यप्रणाली परिषद में प्रथम बजट प्रस्तुत किया। इसलिए भारत में बजट प्रणाली का संस्थापक जेम्स विल्सन को माना जाता है।

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 112 के अन्तर्गत प्रत्येक वित्तीय वर्ष के लिए, जो अप्रैल 1 से 31 मार्च तक चलता है, केन्द्र सरकार की अनुमानित प्राप्तियों तथा व्ययो का एक विवरण पार्लियामेंट के सामने रखना आवश्यक होता है। इस वार्षिक वित्तीय विवरण को केंद्र से का बजट कहा जाता है।

नोट: राज्य सरकारों की बजट के संबंध में व्यवस्था अनुच्छेद 202 में दी गई है।

संघीय बजट की तैयारी और उसे संसद में पैश करने के लिए आर्थिक कार्य विभाग उत्तरदाई है। राष्ट्रपति द्वारा निर्देशित तिथि पर लोकसभा में बजट पेश की जाती है। परंपरागत रूप में प्रत्येक वर्ष फ़रवरी के अंतिम कार्य दिवस पर लोक सभा में पेश की जाती है।

नोट: यदि वार्षिक संघीय बजट लोक सभा द्वारा पारित नहीं होता है तो प्रधानमंत्री अपनी मंत्रिपरिषद का त्यागपत्र पेश कर देता है।

सरकारी बजट का अर्थ

प्रारंभ में रेल बजट और आम बजट एक साथ ही प्रस्तुत किया जाता था लेकिन 1921 में नियुक्ति आकवर्थ कमिटी की सिफारिशो के आधार पर 1924 में निर्णय लिया गया कि रेल बजट को आम बजट से अलग प्रस्तुत किया जाए।

1925 में पहली बार रेल बजट को अलग से पैश किया गया और तभी से रेल बजट को आम बजट से अलग प्रस्तुत किया जाने लगा।

लेकिन 2017 में भाजपा सरकार ने रेल बजट को आम बजट के साथ पेश करने का निर्णय लिया और 2017 के रेल बजट को आम बजट के साथ ही पेश किया गया।

इन्हें भी पढ़ें

>>Top Colleges in MP List?

बजट के प्रकार (Types of Budget inn Hindi)

बजट के प्रकार – भारत में पांच प्रकार के बजट प्रयोग किये जाते है –

  • आम बजट ।
  • निष्पादन बजट ।
  • जिरोबेस बजट ।
  • आउटकम बजट ।
  • जेंडर बजट ।

बजट के महत्वपूर्ण सिद्धांत/तथ्य

  • स्वतंत्र भारत का पहला बजट 26 नवम्बर, 1947 को पहले वित्तमंत्री R.K. षण मुखम शेट्टी द्वारा पेश किया गया। यह बजट 15 अगस्त, 1947 से 31 मार्च, 1948 तक के साढ़े सात माह की अवधि के लिए था।
  • जॉन मथाई को वर्ष 1950 में गणतंत्र भारत का पहला केन्द्रीय बजट पैश करने का गौरभ प्राप्त हुआ।
  • प. जवाहरलाल नेहरू ने वर्ष 1958 से 1959 का बजट पेश किया और बजट को पेश करते हुए उन्होंने घोषणा की थी कि अगले वर्ष से बजट 28 फरवरी के दिन ही पेश किया जाएगा।
  • भारत में अभी तक (2013) सबसे अधिक बार बजट पैश करने वाले वित्तमंत्री मोरारजी देसाई थे। उन्होंने कुल 10 बजट पेश किए, जबकि पी. चिदंबरम ने 8 बजट पेश किए।
  • वित्तमंत्री के रूप में वर्ष 1991 में डॉ. मनमोहन सिंह ने देश में आर्थिक उदारीकरण की नीति लागू करने की घोषणा की।
  • अंग्रेजो ने भारत के लिए बजट पेश करना शुरू किया तो उसके लिए शाम के पांच बजे का समय रखा गया था, लेकिन 1999 में राजग सरकार के वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने बजट पेश करने का समय दिन के 11 बजे कर दिया।
  • 25 फ़रवरी 1992 में भारत में पहली बार रेल बजट और 29 फरवरी 1992 को सामान्य बजट का टेलीविजन पर प्रसारण शुरू हुआ था

बजट निर्माण करने हेतु आवश्यक चरण

  • विगत वर्ष के वास्तविक प्राप्तियां तथा व्यय।
  • चालू वित्त वर्ष के बजट अनुमान और संशोधित अनुमान।
  • आगामी वर्ष के प्रस्तावित बजट का अनुमान।

इस प्रकार भारत में बजट प्रस्तुतीकरण का संबंध 3 वर्षो के अकड़ो से होता है।

Budget date 2022 Expectations

Budget date 2022 – 1 फ़रवरी 2022

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को महत्वपूर्ण केंद्रीय बजट 2022 पेश करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ शुरू होगा। इस वर्ष भी COVID-19 प्रोटोकॉल रखा गया है क्योंकि हाल के दिनों में कई संसद मंत्रियों ने वायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है।


Read More Articles

>>कंप्यूटर फिल्ड में इंटरनेट की क्या भूमिका है?

>>नंबर सिस्टम क्या होता हैं? बाइनरी नंबर सिस्टम इन हिंदी

>>इंटरनेट से होने वाले फायदे?

>>इंटरनेट क्या है? इंटरनेट के प्रकार?


हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी यह पोस्ट What is Email – Email क्या है ? E-mail कैसे भेजा जाता है?, आपको बहुत पसंद आई है। हमारी पोस्ट का उद्देश्य अपने रीडर्स को एक ही आर्टिकल में पूरी जानकारी उपलब्ध कराना होता है, जिससे उन्हें अन्य आर्टिकल को पढ़ने की जरूरत न पड़े।

हमारी इस पोस्ट What is Email – Email क्या है, में दि गई जानकारी आपको कैसी लगी, हमें Comment Box में कमेंट करके जरूर बताए और यदि आपको हमारी इस पोस्ट से कुछ भी सीखने को मिला है तो आप हमारे इस आर्टिकल को अपने सोशल मीडिया जैसे – Facebook, WhatsApp, Twitter आदि से Share करे।

Leave a Reply