What A Computer Network Is ? Computer Network Define - WebBalaji

Latest Post

www क्या है ? What is www in Hindi 2022 Internet के द्वारा संचार क्रांति में योगदान – Services of Internet
Spread the love

क्या आप जानते है What a Computer Network is ? यदि नहीं और आप भी Computer Networking के बारे में जानकारी ढूंढ रहे है जैसे – what is computer networking security, what is computer networking in hindi, computer network hindi, computer network layers, computer network define, कंप्यूटर नेटवर्किंग इन हिंदी नोट्स,

Computer Network in Hindi, नेटवर्क कनेक्शन की स्थापना, What is computer network, नेटवर्क कितने प्रकार के होते हैं, Advantages of computer network, Types of network, कंप्यूटर नेटवर्क के उपयोग, नेटवर्क का विकास, Computer network types, कंप्यूटर नेटवर्क के लाभ और हानि? आदि तो हमारे इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक पूरा पढे।

Computer Network क्या है? What a Computer Network is ? Computer Network define

Computer Network in Hindi – “एक से अधिक बिंदुओं, वस्तुओं या व्यक्तियों को आपस में इस प्रकार जोड़ा जाए कि उनमें से प्रत्येक एक दूसरे के साथ संबंध बना सके, इस तकनीकी को Network कहते है। इसी प्रकार एक से अधिक कंप्यूटरों को जब आपस में जोड़ा जाता है तो इसे computer Network कहते है

What a Computer Network is ? Computer Network define

Computer Network define

आज के समय में मानवीय कार्यप्रणाली के स्थान पर कंप्यूटरीकृत कार्यप्रणाली को अधिक महत्व दिया जाता है, क्योंकि किसी भी संस्थान तथा संगठन की कार्यप्रणाली के कंप्यूटरीकृत होने से धन और समय दोनों की बचत हो तथा इसकी आवश्यकतानुसार स्थापना हो।

यह भी पढ़े

>>इंटरनेट से होने वाले फायदे?

>>इंटरनेट क्या है? इंटरनेट के प्रकार?

>>www क्या है?

हमें कंप्यूटर नेटवर्क की आवश्यकता क्यों पड़ती है?

Computer Network Define – Computer Network diagram

• हार्डवेयर शेयर करने के लिए

हम एक नेटवर्क में शामिल प्रत्येक कंप्यूटर Hardware को Access करके उसका प्रयोग कर सकते है।

उदाहरण के लिए, एक नेटवर्क में हम विभिन्न कंप्यूटरों का उपभोग कर रहे है। अब Printout के लिए हम प्रत्येक कंप्यूटर पर तो अलग अलग प्रिंटर नहीं लगा सकते है, इसलिए नेटवर्किंग के माध्यम से यह कार्य अधिक सरलता से हो जाता है। इसमें हम एक ही प्रिंटर का उपयोग सभी कंप्यूटरों के लिए कर सकते है।

• Data और Information शेयर करने के लिए

इसे सुविधा में हम किसी भी कंप्यूटर से कोई भी जानकारी घर बैठे अपने कंप्यूटर पर प्राप्त कर सकते है।

एक नेटवर्क में शामिल किसी भी कंप्यूटर पर कार्य करते समय कोई भी वैध यूजर किसी भी दूसरे Computer में संग्रहित Data और Informations तक पहुंचकर उसका इस्तेमाल भी कर सकते है।

Storage Data और Information तक पहुंच उनका इस्तेमाल करके की सुविधा कई नेटवर्को का बहुत ही महत्वपूर्ण Feature होता है।

कंप्यूटर नेटवर्क के उपयोग ? (Advantage/Uses Of Computer Networking

किसी भी संस्थान या संगठन में Computer Network प्रयोग करने के निम्नलिखित उपयोग/फायदे हैं –

  • Data को Electronic रूप में आदान प्रदान से संख्या की कार्यप्रणाली में तीव्रता।
  • Hardware Devics का अनेक कंप्यूटरों द्वारा सामूहिक रूप से उपयोग होता है।
  • कंप्यूटरीकृत लागत कम होती है।
  • इसमें अनेक व्यक्ति एक ही Data और Information का उपयोग कर सकते है।
  • कंप्यूटर नेटवर्क द्वारा हम सॉफ्टवेयर की क्षमता का अधिकतम प्रयोग कर सकते हैं। नेटवर्क व्यवस्था में सर्वर पर कोई सॉफ्टवेयर लोड करके प्रत्येक कंप्यूटर द्वारा उसका उपयोग कर सकते है।
  • कंप्यूटर नेटवर्क मेनफ्रेम, पर्सनल एवं विभिन्न प्रकार के अन्य संचार Devices (Commpunication Devices) को एक साथ सम्मिलित किया जा सकता है।

Read More Articles

>>कंप्यूटर में कौन कौन से विशेषताएं होती है?

>>कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर के विभिन्न क्षेत्रों में उपयोग?

>>कंप्यूटर में booting प्रोसेस क्या होता है?

>>कंप्यूटर वोलेटाइल मैमोरी क्या होती है?

>>Computer FAT क्या है?

>>ऑप्टिक फाइबर केबल क्या होती है?

what is computer networking security

कंप्यूटर नेटवर्क में उपयोग होने वाले उपकरण (Devices Used In Network)

Computer Network में निम्नलिखित उपकरण प्रयोग किए जाते है –

  • Server(सर्वर)
  • Node (नोड)
  • Client (क्लाइंट)
  • Cable (केबल)
  • Hub (हब)

Server (सर्वर)

यह एक विशेष कंप्यूटर होता है। जो नेटवर्क में केंद्रीय कंप्यूटरों के रूप में कार्य करता है।

यह सॉफ्टवेयर तथा हार्डवेयर जैसे उपकरणों का सांझा प्रयोग तथा Email जैसी सेवाएं प्रदान करने का कार्य करता है।

Node (नोड)

Network के सर्वर से जुड़े प्रत्येक कंप्यूटर को नोड कहते है।

Network में प्रत्येक Node का एक निश्चित नाम होता है।

Client (क्लाइंट)

यह एक कंप्यूटर Node होता है, जो सर्वर द्वारा प्रदत्त सेवाओं का प्रयोग करता है।

Cable (केबल)

Network में कंप्यूटर को आपस में जोड़ने वाले तर को केबल Cable (केबल) या बस कहा जाता है।

Hub (हब)

यह नेटवर्क में उपस्थित अलग अलग कंप्यूटर के तारो को एक साझा बिंदु से जोड़ने का कार्य करता है।

दूसरे शब्दों में कहें तो, स्टार Network में यह केंद्रीय नियंत्रण उपकरण होता है। यह आयताकार बॉक्स जैसा होता है, जिसमे प्लग लगाने के लिए अनेक छिद्र होते है, जिन्हे पोर्ट कहते है।

इन्हीं पोर्टो में Network से जुड़ने वाले सभी P.C. के तार जोड़ दिए जाते है। यह मुख्यत तीन प्रकार के होते है –

  • डम हब
  • इंटेलिजेंट हब
  • स्मार्ट हब

Read More Articles

>>मेमोरी क्या है? मेमोरी कितने प्रकार की होती है?

>>कंप्यूटर कंट्रोल यूनिट क्या होता है?

>>कंप्यूटर के विकास का इतिहास क्या है?

>>Presentation Software क्या होते है? इसके कार्य और प्रकार?

>>नंबर सिस्टम क्या होता हैं? बाइनरी नंबर सिस्टम इन हिंदी

नेटवर्क कितने प्रकार के होते हैं (Types of Network – computer network layers)

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार (computer network layers)

कंप्यूटर नेटवर्क मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते है

  • LAN (Local Area Network)
  • WAN (Wide Area Network)
  • MAN (Matropolitan Area Network)

LAN (Local Area Network) (लोकल एरिया नेटवर्क)

प्राय यह नेटवर्क एक या दो किलोमीटर भौगोलिक क्षेत्र तक ही सीमित होता है।

उदाहरणतया किसी विद्यालय या एक ही इमारतें स्थित संगठन में हो सकता है। स्टार, रिंग या कम्प्लीटली कनेक्टेड टोपोलोजी को LAN (Local Area Network) में प्रयोग किया जाता है।

प्राय LAN (Local Area Network) में Coaxial केबल या Fiber Optic के तार प्रयोग में आते है। इनकी Data Commpunication Speed बहुत तेज और त्रुटिरहित होती है।

LAN (Local Area Network) के फायदे

LAN (Local Area Network) के निम्नलिखित फायदे/लाभ है

  • LAN (Local Area Network) के माध्यम से एक से अधिक कंप्यूटरों को आपस में जोड़ दिया जाता है जिसकी वजह से ह अपना कार्य किसी भी कंप्यूटर पर कर सकते है।
  • LAN (Local Area Network) के माध्यम से हम Software एप्लिकेशन को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटरों में share कर सकते है।
  • LAN (Local Area Network) के माध्यम से हम अपनी फाइलों को किसी भी कंप्यूटर में देख सकते है।
  • LAN (Local Area Network) पर जुड़े हुए किसी कंप्यूटर पर हम कार्य कर सकते है, उस कंप्यूटर पर प्रिंटर जुड़ा हुआ नहीं है, लेकिन किसी दूसरे कंप्यूटर पर प्रिंटर जुड़ा हुआ है तो हम जिस कंप्यूटर पर कार्य कर रहे है उसी कंप्यूटर में अपनी फाइलों का प्रिंटआउट निकल सकते है। इसका मतलब LAN (Local Area Network) के माध्यम से हम hardware को Share कर सकते है।
  • LAN (Local Area Network) को केवल Authorised users ही एक्सेस कर सकते है, इसके लिए प्रत्येक user के लिए User Name तथा पासवर्ड उपलब्ध होता है। Unauthorised users LAN से जुड़े हुए कंप्यूटर में एक्सेस नहीं कर सकते है।

LAN (Local Area Network) की हनिया

LAN (Local Area Network) से होने वाली हानिया निम्नलिखित है:

  • LAN (Local Area Network) में जुड़े हुए कंप्यूटर पर कार्य करने के लिए सभी कंप्यूटरों की Power On होना जरूरी होता है। तभी हम किसी भी कंप्यूटर का डाटा शेयर कर सकते है।
  • यदि हम Password भूल जाए है तो हमारा कार्य रुक जाता है, जब हम नया Password उपलब्ध होगा तभी हम अपना कार्य शुरू कर सकते है।
  • LAN (Local Area Network) के माध्यम से इंटरनेट पर कार्य करने से सिस्टम पर इंटरनेट की Speed काम होती चली जाती है।
  • LAN (Local Area Network) सर्वर के Off होने पर हम हार्डवेयर तथा Softwareको Share नहीं कर सकते है।

LAN (Local Area Network) की विशेषताएं

LAN (Local Area Network) की निम्नलिखित विशेषताएं होती हैं

  • LAN (Local Area Network) सीमित भौगोलिक क्षेत्र में ही कार्य करता है।
  • इसकी लागत समयताया कम होती है।
  • यह किसी एक संस्था या उद्देश्य विशेष से संबंधित होता है।
  • LAN (Local Area Network) में आंकड़ों के संचार की गति 0.1 से 100 मेगाबाइट प्रति सेकेंड तक होती हैं।

LAN (Local Area Network) में कौन कौन से प्रोटोकॉल प्रयोग होते है

LAN (Local Area Network) में प्रयोग किए जाने वाले प्रमुख प्रोटोकॉल निम्नलिखित है

  • Ethernet Protocol
  • OMNET Protocol
  • ARCNET Protocol

WAN (Wide Area Network) (वाइड एरिया नेटवर्क)

यह नेटवर्क सार्वजनिक नेटवर्क है जो कि विस्तृत क्षेत्र में स्थापित होता है। यह MAN से भी बड़ा होता है। इसे मंडलीय, प्रादेशिक, राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित किया जा सकता है।

WAN (Wide Area Network) में दो या दो से अधिक LAN को आपस में जोड़ जाता है। यह लिंक टेलीफोन लाइन के माध्यम से बनाया जाता है।

WAN (Wide Area Network) को स्थापित करने के लिए हम उपग्रह या रेडियो का उपयोग भी कर सकते है।

इसके मुख्य उदाहरण है –

ARPANET भारत सरकार द्वारा स्थापित ERNET, SALENET, SYARNET आदि।

LAN की अपेक्षा WAN (Wide Area Network) की गति धीमी होती है।

WAN (Wide Area Network)

WAN (Wide Area Network)की विशेषताएं निम्नलिखित है –

  • WAN (Wide Area Network) में भौगोलिक क्षेत्र की कोई सीमा नहीं होती है
  • WAN में कंप्यूटरों के बीच भौतिक लिंक की आवश्यकता नहीं होती है। WAN (Wide Area Network) के आंकड़ों के संचार की गति सामान्यतया 9600 बिट प्रति सेकेंड होती हैं।
  • WAN (Wide Area Network) को स्थापित तथा प्रयोग करने में लागत अधिक आती है।

WAN (Wide Area Network) में कौन कौन से प्रोटोकॉल प्रयोग होते है?

WAN (Wide Area Network) में प्रयुक्त होने वाले प्रोटोकॉल निम्न है –

  • X-25 Protocol
  • Frame Relay Protocol
  • ATM Protocol

MAN (Matropolitan Area Network)

वह Network जो व्यक्तिगत या सार्वजनिक रूप से किसी मैट्रोपोलिटिन महानगरों की अनेक इमारतों को आपस में जोड़ता है, MAN (Matropolitan Area Network) कहलाता है।

इसका आकार तथा कंप्यूटरों की संख्या LAN से ज्यादा होती है। इसमें कई LAN को एक साथ आपस में जोड़ दिया जाता है।

LAN (Local Area Network) और WAN (Wide Area Network) में अंतर

  • LAN सीमित भौगोलिक क्षेत्र में कार्य करता है एवं WAN भौगोलिक दृष्टि से विस्तृत क्षेत्र में कार्य करता है।
  • WAN में कंप्यूटरों को आपस में तारो तथा केबलो से जोड़ा जाता है। जबकि WAN में विभिन्न कंप्यूटरों को भोतिक लिंक से जोड़ने की आवश्यकता नहीं है।
  • LAN को स्थापित करने या प्रयोग करने की लागत बहुत अधिक होती है तथा WAN की स्थापना करने की लागत बहुत अधिक होती है।
  • LAN किसी संख्या या संगठन विशेष से संबंधित होते है। WAN विश्वव्यापी होते है। उदाहरण – Internet
  • LAN में आंकड़ों के संचार की गति 0.1 से 100MB प्रति सेकेंड होती है तथा WAN में यही गति 1200 से 9600 बिंदु प्रति सेकेंड होती है।

Read More Articles

>>कंप्यूटर में कौन कौन से विशेषताएं होती है?

>>कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर के विभिन्न क्षेत्रों में उपयोग?

>>कंप्यूटर में booting प्रोसेस क्या होता है?

>>कंप्यूटर वोलेटाइल मैमोरी क्या होती है?

>>मेमोरी क्या है? मेमोरी कितने प्रकार की होती है?

>>कंप्यूटर कंट्रोल यूनिट क्या होता है?

>>कंप्यूटर के विकास का इतिहास क्या है?

>>कंप्यूटर के विकास का इतिहास क्या है?

>>कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है?

>>मोबाइल से घर बैठे यूट्यूब चैनल कैसे बनाए?

>>Analog और Digital Signal क्या होते है?

>>Communication Process क्या होता है?

हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी यह पोस्ट What a Computer Network is ?, आपको बहुत पसंद आई है। हमारी पोस्ट का उद्देश्य अपने रीडर्स को एक ही आर्टिकल में पूरी जानकारी उपलब्ध कराना होता है, जिससे उन्हें अन्य आर्टिकल को पढ़ने की जरूरत न पड़े।

हमारी इस पोस्ट Computer Network define in hindi, में दि गई जानकारी आपको कैसी लगी, हमें Comment Box में कमेंट करके जरूर बताए और यदि आपको हमारी इस पोस्ट से कुछ भी सीखने को मिला है तो आप हमारे इस आर्टिकल को अपने सोशल मीडिया जैसे – Facebook, WhatsApp, Twitter आदि से Share करे।

Leave a Reply