मैमोरी क्या है? मेमोरी के प्रकार? - Types Of Memory For Computers 2021 - WebBalaji

Latest Post

भारत में जनसंख्या विस्फोट पर निबंध | Essay on Population Explosion in India Common Gateway Interface – CGL क्या है?
Spread the love

स्वागत है आपका आज के हमारे इस आर्टिकल मेमोरी क्या है मेमोरी के प्रकार – Types Of Memory For Computers में। यदि आप कंप्यूटर मैमोरी से जुड़ी जानकारी जैसे मेमोरी डिवाइस क्या है?,कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी क्या होती है? कंप्यूटर मेमोरी? कंप्यूटर मेमोरी चार्ट? कैश मेमोरी क्या है?,प्राइमरी मेमोरी कितने प्रकार की होती हैं? प्राइमरी मेमोरी क्या है?मेमोरी क्या है in English? मेमोरी क्या है in Hindi? मेमोरी क्या है मेमोरी के प्रकार? सेकेंडरी मेमोरी के प्रकार? आदि के बारे में जानकारी ढूंढ रहे है तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

इस आर्टिकल में आपको मेमोरी क्या है मेमोरी के प्रकार – Types Of Memory For Computers की पूरी जानकारी मिल जाएगी। तो चलिए बिना देरी करे हम जानते है मेमोरी से जुड़े सभी सवालों के जबाव।

मैमोरी क्या है? What Is Computer Memory?

परिभाषा“किसी भी निर्देश, सूचना, अथवा परिणामों को स्टोर करके रखना मेमोरी कहलाता हैं”।

मैमोरी क्या है मेमोरी के प्रकार - Types Of Memory For Computers 2021

Memory यह Device Input Device जैसे keybord, Mouce, स्कैनर, आदि के से प्राप्त निर्देशों को Computer में संग्रहण (Store) करके रखता है इसे Computer की याददाश्त भी कहाँ जाता है।

हम इंसानों में कुछ बातों को याद रखने के लिये मष्तिस्क होता है, उसी प्रकार Computer में डाटा को याद रखने के लिए मेमोरी (Memory) का use होता है। यह मेमोरी C.P.U का अभिन्न अंग है,इसे Computer की मुख्य मेमोरी (Main memory), आंतरिक मेमोरी (Internal Memory), या प्राथमिक मेमोरी (Primary Memory) भी कहते हैं।

Read More Articles

>>मॉनिटर क्या है?

>>पर्सनल कंप्यूटर क्या होता है?

>>Input Device & Output Device क्या है?

>>Printer क्या है? प्रिंटर कितने प्रकार के होते हैं?

>>सॉफ्टवेयर क्या होते है?

>>Spreadsheet क्या होता हैं?

>>Analog और Digital Signal क्या होते है?

>>Computer FAT क्या है?

>>ऑप्टिक फाइबर केबल क्या होती है?

मेमोरी के प्रकार (Types Of Memory For Computers)

कंप्यूटरो में एक से अधिक मेमोरी होती है जिन्हे हम निम्नलिखित रूपी में वर्गीकृत करते है

  • Primary Memory (प्राइमरी मैमोरी)
  • Secondary Memory (सेकेंडरी मैमोरी)

Primary Memory (प्राइमरी मैमोरी)

Primary Memory (प्राइमरी मैमोरी) कंप्यूटर की वह संग्रहण डिवाइस है जिसमे input किया गया डाटा सर्वप्रथम संग्रहित होता है, Primary Memory (प्राइमरी मैमोरी) कहते है। इस मैमोरी को कंप्यूटर की Main Memory भी कहते है।

मैमोरी क्या है मेमोरी के प्रकार - Types Of Memory For Computers 2021

कंप्यूटर की Primary Memory (प्राइमरी मैमोरी) (main memory) दो प्रकार की होती है

  1. RAM (Random Access Memory)
  2. ROM (Read Only Memory)

1. RAM (Random Access Memory)

RAM (Random Access Memory) को Read/Write मैमोरी भी कहते है, क्योंकि इस मैमोरी में हम डाटा को संग्रहित करने के साथ साथ उस संग्रहित Data को पढ़ भी सकते है।

RAM कंप्यूटर की अस्थाई मैमोरी होती है। Input Device द्वारा Input किया गया डाटा क्रिया ( Processing) से पहले RAM में ही संग्रहित होता है और C.P.U. द्वारा आवश्यकता पड़ने पर वहा से प्राप्त कर लिया जाता है।

RAM में Data या Program अस्थाई रूप से संग्रहित होता है। कंप्यूटर बंद हो जाने पर या विद्युत प्रवाह रुक जाने पर RAM में संग्रहित Data मिल जाता है, इसलिए RAM को Volatile या अस्थाई मैमोरी भी कहते है।

RAM (Random Access Memory) की क्षमता या आकार भिन्न भिन्न होते है।

जैसे – 1MB, 2MB, 4MB, 8MB, 16MB, 64MB, 128MB, 256MB, 512MB, 1024MB आदि

चुकी RAM (Random Access Memory) की किसी भी Location का डाटा व निर्देशो का संग्रहण एवं वापस प्राप्त करना, यह सब रेंडमली (Randomly) होता है। अत: सभी लोकेशन का Access Time समान होता है।

RAM के प्रकार

पर्सनल कंप्यूटर सामान्यत दो प्रकार की RAM प्रयोग की जाती है –

1. डायनैमिक रैम (DRAM)

डायनैमिक रैम को संक्षिप्त में DRAM के नाम से जाना जाता है। DRAM को जल्दी जल्दी रिफ्रेश (Refresh) करने की आवश्यकता पड़ती है।

रिफ्रेश का अर्थ यहां पर चिप को विद्युत आवेशित करना है। यह एक सेकेंड में लगभग हजारों बार रिफ्रेश होती है। बार बार रिफ्रेश करने के कारण यह दूसरे रैम की अपेक्षा धीमी होती है

2. स्टेटिक रैम (SRAM)

स्टेटिक रैम (SRAM) कम रिफ्रेश होती है, जिसका कारण डाटा ज्यादा समय तक रहता है। स्टेटिक रैम (SRAM) को संक्षेप में SRAM के नाम से जाना जाता है। SRAM अन्य सभी रैमस की अपेक्षा अधिक तेज एवं महंगी होती है।

RAM की विशेषताए
  • RAM User Program को Execute करने हेतु आवश्यक System को भी संग्रहित करती है।
  • मैन मैमोरी हमेशा CPU द्वारा ही एड्रेस की जाती है।
  • इसमें सूचना को पढ़ा एवं लिखा भी जा सकता है।

2. ROM (Read Only Memory)

ROM (Read Only Memory) कंप्यूटर की स्थाई मैमोरी होती है, जिसमे अक्सर कंप्यूटर निर्माताओं द्वारा प्रोग्राम संचित करके स्थाई कर दिए जाते है, जो समय पड़ने पर कार्य करते है और आवश्यकता पड़ने पर Opreater को निर्देश देते है।

Basic Input Output System नामक प्रोग्राम ROM का ही उदाहरण है। जो कंप्यूटर के ऑन होने पर उसकी सभी Input Output डिवाइसेज को चैक करने का कार्य करता है। इस मैमोरी में संग्रहित प्रोग्राम परिवर्तित और मस्त नहीं किए जा सकते है। उन्हें केवल पढ़ा जा सकता है, इसलिए इस मैमोरी को ROM (Read Only Memory) कहते है।

कंप्यूटर के बंद हो जाने के बाद या विद्युत प्रवाह बंद हो जाने पर भी इसमें संग्रहित प्रोग्राम नष्ट नहीं होते है। अत: हम ROM को Non Volatile या स्थाई संग्रह माध्यम भी कहते है।

आरंभ में ROM (Read Only Memory) के लिए यह बाध्यता थी कि कंप्यूटर निर्माता एक बार किसी प्रोग्राम को ROM ची पर संग्रहित करने के बाद उसे ना तो मिटा सकते थे और न ही उस प्रोग्राम में संशोधन कर सकते थे। परन्तु बाद में PROM, EPROM, EEPROM नाम की ROM बनाई गई, जिसके अलग अलग लाभ है।

PROM, EPROM, EEPROM के बारे थोड़ा विस्तार से जानते है –

PROM (Programmable Read Only Memory)

PROM मैमोरी में किसी को केवल एक बार संचित किया जा सकता है और एक बार संग्रहित होने के बाद न ही इन्हें मिटाया जा सकता है और न ही इसमें कोई परिवर्तन किया जा सकता है।

EPROM (Erasable Read Only Memory)

यह मैमोरी PROM के समान ही होती है, परन्तु इसमें संग्रहित प्रोग्राम पराबैगनी किरणों (Ultra Voilet Rays) द्वारा मिटाए का सकते है और नए प्रोग्राम संग्रहित किए जा सकते है।

EPROM में संग्रहित डाटा को मिटाने के लिए विशेष यंत्र की आवश्यकता होती है जिसे IC प्रोग्रामर कहते है।

EEPROM (Electrical Erasable Programming ROM)

EEPROM  (Electrical Erasable Programming ROM) पर संग्रहित किए गए प्रोग्राम को विद्युतीय विधि से मिटाया जा सकता है। इस मैमोरी पर उपस्थित प्रोग्राम को मिटाने या संशोधित करने के लिए किसी यंत्र की आवश्यकता नहीं होती है।

Electrical Signal जो कि कंप्यूटर में ही उपलब्ध होती है, हमारे द्वारा कमांड्स देने पर प्रोग्राम को संशोधित कर देते है।

Secondary Memory (सेकेंडरी मैमोरी)

“कंप्यूटर की वह संग्रहण डिवाइस जिसमे डाटा को स्थाई रूप से संग्रहित किया जाता है, Secondary Memory (सेकेंडरी मैमोरी) कहलाता है।” Secondary Memory (सेकेंडरी मैमोरी) को Auxillary मैमोरी भी कहते है।

उदाहरण – पेन ड्राइव, फ्लॉपी डिस्क, CD Drive, तथा Hard Disk है।

प्राइमरी मेमोरी और सेकंडरी मैमोरी के बीच अंतर (Difference in Primary Memory and Secondary Memory)

  1. Primary Memory में सेमी – कंडक्टर (Semi – Conductor) पदार्थ के चिप होते है, जबकि सेकंडरी मैमोरी मैग्नेटिक अथवा प्रका शिय डिस्क व टेप होती है।
  2. प्राइमरी मेमोरी RAM में डाटा अस्थाई रूप से संग्रहित रहता है तथा ROM में स्थाई रूप से, जबकि सभी प्रकार की सेकंडरी मेमोरी में डाटा स्थाई रूप से संग्रहित होता हैं।
  3. प्राइमरी मेमोरी की डाटा Transfer स्पीड तीव्र होती है जबकि सेकंडरी मैमोरी की गति अपेक्षाकृत कम होती है।
  4. प्राइमरी मेमोरी की संग्रहण क्षमता सेकंडरी मेमोरी की अपेक्षा कम होती है। सेकंडरी मैमोरी की क्षमता अत्यधिक होती है जैसे 20GB, 40 GB, 80GB आदि।
  5. प्राइमरी मेमोरी को कंप्यूटर से हटकर स्थानांतरित कर मस्किल भी है और ठीक भी नहीं है, जबकि सेकंडरी मैमोरी स्थानांतरण होती है। इसमें एक कंप्यूटर से डाटा दूसरे कंप्यूटर में स्थानांतरित किया जा सकता है।

Read More Articles

>>कंप्यूटर में कौन कौन सी विशेषताएं पाई जाती है?

>>कंप्यूटर में Control Unit क्या होता है?

>>कंप्यूटर के विकास का इतिहास?

>>कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है?

>>Volatile Memory क्या होती है?

>>कंप्यूटर में Booting Process क्या होती हैं?

>>कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर के विभिन्न क्षेत्रों में उपयोग क्या है?

>>ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है?

>>मॉडम क्या होता हैं?

>>कम्युनिकेशन प्रोसेस क्या होती है ? इसके प्रकार और उदाहरण?

>>प्रोटोकॉल किसे कहते है? इसके कार्य और प्रकार ?

>>नंबर सिस्टम क्या होता हैं? बाइनरी नंबर सिस्टम इन हिंदी

मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको मेरी यह आर्टिकल मेमोरी क्या है मेमोरी के प्रकार ( Types Of Memory For Computers) पसंद आया है। मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है कि जो भी Readers इस आर्टिकल को पढ़े उस इसी आर्टिकल में कंप्यूटर मैमोरी की पूरी जानकारी मिल जाए, जिससे उन्हें Internet में किसी दूसरे आर्टिकल में न जाना पड़े।

इससे Readers को एक ही जगह पूरी Information मिल जाएगी और आपका समय भी बच जाएगा। यदि आपका इस आर्टिकल को लेकर कोई भी सवाल है या आपको लगता है कि इसमें दि गई जानकारी में सुधार होनी चाहिए तो हमें Comment Box में comment करे।

यदि आपको हमारी इस पोस्ट मेमोरी क्या है मेमोरी के प्रकार (Types Of Memory For Computers) में दी गई जानकारी जरा भी पसंद आती हैं या आपको जरा भी कुछ सीखने को मिटा है तो इसे अपने social मीडिया Network जैसे Facebook, WhatsApp, Twitter में आपके दोस्तो के साथ Share कीजिए।

Leave a Reply