जनसंचार पर टिप्पणी - Mass Communication In Hindi - WebBalaji

Latest Post

जनसंचार पर टिप्पणी – Mass Communication in Hindi Internet के लाभ और हानियां – Features, Advantage and Disadvantage of Internet
Spread the love

जनसंचार पर टिप्पणी – Mass Communication in Hindi

Mass Communication in Hindi

क्या आप जानते है कि जनसंचार पर टिप्पणी – Mass Communication in Hindi.

यदि नहीं और आप Mass Communication से जुड़ी जानकारी जैसे कि Mass Communication क्या है? (what is Mass Communication), मास कम्युनिकेशन हिंदी मीनिंग, Types of mass media, मास कम्युनिकेशन कोर्स आदि ढूंढ रहे है, तो हमारे इस लेख को आखिर तक पूरा पढ़े।

तो चलिए बिना देरी किए आज के इस लेख में हम सीखते है कि जनसंचार पर टिप्पणीMass Communication in Hindi?

Mass Communication क्या है? (Mass Communication in Hindi)

Mass CommunicationMass Communication is delivering information, ideas and attitudes to a sizeable and diversified audience through a use of the media developed for the purpose.

मास कम्युनिकेशन हिंदी मीनिंग

Mass Communication मीनिंग – जन संचार जिसे English में Mass Communication कहते है। यह वर्तमान समय में सबसे ताकतवर व समकालीन संचार संसाधन (Mass Communication) है।

इसमें संचार (Communication) प्रक्रिया के सभी तत्व सम्मिलित है। Mass Communication में प्रेषक एवं प्रापक अकेले नहीं बल्कि Unit के साथ होते है।

जैसे रेडियो पर जो आवाजे प्रसारित होती है, उसमे लेखक ही महत्वपर्ण नहीं होता, बल्कि उस वार्ता को पढ़ने वाला, ध्वनि अंकन प्रसारण, संयोजन आदि अनेक तकनीकी कार्य करने वाली पूरी श्रंखला होती है।

समाचार पत्र का एक उदाहरण ले तो इसमें समाचार छपने तक की प्रक्रिया में संपादक सह संपादक, संवाददाता, फोटोग्राफर, मुद्रक आदि कई लोगों का योगदान रहता है।

इन्हे भी पढ़े

>>समास किसे कहते है?

>>अनुवाद क्या होता है? translation Meaning In Hindi?

>>तत्सम शब्द किसे कहते हैं? इसके प्रकार और उदाहरण?

>>मुहावरे का अर्थ – (Idioms) Muhavare in Hindi?

Mass Communication Hindi

Mass Communication में सूचनाएं एक विशाल जनसमूह के लिए प्रेषित की जाती है, जो मिश्रित अभिरुचियों,अनोवरतियो व विचारो वालो होता है।

श्रोताओं या दर्शकों कि अभिरुचियों का ध्यान आम धारणा के तहत रखा जाता है। बहुत हद तक इस संचार माध्यम में फीड bank की संभावनाएं बहुत कम होती है।

इसमें कौन कहता है, क्या कहता है, किसे कहता है और क्या प्रभाव पड़ता है, यही महत्वपूर्ण है। प्रापक या संप्रेषित समूह की रुचियों, मान्यताओं को बदलने, बढ़ाने एवं घटाने में इस संसाधन की भूमिका अग्रहनी होती है।

जनसंचार माध्यम के अन्तर्गत Print, सरव्य, दृश्य एवं दृश्य-श्रव्य संसाधन सम्मिलित है। मनुष्य की प्रवत्ति है कि वह सूचनाओ और संदेशों को आंख और कान से ग्रहण करता है।

इसी आधार पर दृश्य (Visual, ऑडियो, Audio visual श्रेणी में संचार संसाधनों को विभाजित कर सकते है।

रेडियो श्रव्य माध्यम है क्योंकि रेडियो द्वारा प्रसारित सूचनाओं हम कान से ग्रहण करते है। आंख से देखने के कारण फोटो दृश्य माध्यम है।

टेलीविजन दृश्य श्रव्य दोनों है, क्योंकि उसे साथ साथ देखा व सुना जा सकता है।

इन्हे भी पढ़े

>>VSAT क्या है | VSAT Full Form | कैसे काम करता है?

>>ट्रांसमिशन मीडिया क्या है? 

>>POP क्या है?

>>वेब पेज क्या है?

>>I.P.R. क्या है?

>>Internet Ethic क्या है?

>>Star Topology क्या होते है?

>>Internet के लाभ और हानियां?

दोस्तो इस लेख में आपने जनसंचार पर टिप्पणी – Mass Communication in Hindi के बारे में जाना है। हमें पूरी उम्मीद है आपको हमारे इस लेख में दि गई जानकारी पसंद आई है।

हमारा हमेशा यही प्रयास होता है कि हमारे सभी उपभोक्ता जो हमारे लेख तक आए उसे हमारे लेख में उपभोक्ता के विषय से संबंधित सभी जानकारी दी जाए ताकि हमारे आदरणीय उपभोक्ता को किसी दूसरे लेख का सहारा न लेना पड़े।

मित्रो आपको हमारे इस लेख जनसंचार पर टिप्पणी (Mass Communication in Hindi) में दि गई जानकारी कैसी लगी हमें नीचे Comment Box में Comment करके जरूर बताए और आपको हमारा यह लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तो के साथ अपने सोशल मीडिया जैसे Facebook, WhatsApp, Twitter आदि में शेयर करे।

Leave a Reply